नींबू (lemon) खानेके के 6 आश्चर्यजनक लाभ जो आप शायद नहीं जानते होंगे? Benefits of Lemon in Hindi

नींबू (lemon) को लगभग सभी लोग जानते हैं । अक्सर लोग  नींबू का प्रयोग करके लोग तरह तरह की व्यंजने बनाते हैं। यही नहीं , नींबू के चटनी को बहुत ही पसंद से खाया जाता है। नींबू की सबसे बड़ी खूबी ये है कि जहां दूसरे कोई फल पकने के बाद मीठे हो जाते हैं , वहीं नींबू का स्वाद हर समय खट्टा ही रहता है। नींबू में विटामिन C का मुख्य स्रोत पाया जाता है। नींबू के सेवन से स्कर्वी रोग भी ठीक हो जाता है। इतना ही नहीं बल्कि नींबू के प्रयोग से कई और भी बिमारिया ठीक की जाती है।

आयुर्वेद में नींबू के बारे में बहुत सारी अच्छी बातें बताई गई हैं। आप नींबू का उपयोग पेट के कीड़ों को जड़ से खत्म करने के लिए कर सकते हैं ।  पेट दर्द से आराम पाने के लिए , भूख बढ़ाने के लिए यही नही पित्त और कफज विकारों को ठीक करने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं , साथ ही साथ और भी कई बीमारियो में नींबू के फायदे ले सकते हैं। नीचे हमने आपको बहुत ही आसान से शब्दों में नींबू के सभी फायदो के बारे में बताया गया है तो चलिए धीरे धीरे करके जान लेते है ।

नींबू क्या है? (What is Nimbu in Hindi?)

नींबू के बहुत सी जातियां पाई जाती है , जैसे- कागजी नींबू (kagzi nimbu), बिजौरी नींबू , जम्मीरी नींबू , मीठा नींबू आदि । औषधी के रूप में कागजी नींबू का ही उपयोग किया जाता है । इसका आकार छोटा या फिर मध्यम होता है।  इसका वृक्ष कांटों से भरा रहता है और झाड़ीनुमा होता है। इसके फूल छोटे , सफेद अथवा गुलाबी रंग के होते हैं। यही नही इसके फूलों से सुगंध भी आता है।

Keya Lemon Juice Concentrate 500 gm x 1

Keya Lemon Juice Concentrate 500 gm x 1

from Rs. 160
Signoraware Express Lemon Squeezer with Bottle Opener Food Grade plastic, Set of 1, Multicolour

Signoraware Express Lemon Squeezer with Bottle Opener Food Grade plastic, Set of 1, Multicolour

from Rs. 135

अनेक भाषाओं में नींबू के नाम क्या है ?

अनेक भाषाओं में नींबू को निम्नलिखित नामो से बुलाया जाता है :–

Hindi (lemon in hindi) – खट्टा नींबू, कागजी नींबू (kagzi nimbu)

Sanskrit – बृहत् जम्बीर, निम्बुक

Urdu – लिमू (Limu)

Kannada – बीजपूर (Bijpur)

Tamil – चामपलम (Champalam)

Telugu – बीजपूरम (Beejpuram)

Bengali – लेबू (Lebu)

Nepali – बिमिरो (Bimiro

Manipuri – चाम्प्रा (Champra)

Marathi – अंबटनिंबू(Ambatanimbu), लिंबू (Limbu)

Arabic – लीबू (Leebu)

Persian – लीबू (Leebu

नींबू के फायदे क्या हैं ?

नींबू के फायदे को हमने निम्नलिखित तरीकों के माध्यम से समझाया है :–

      1.     रूसी की समस्या और बाल  झड़ने की समस्या में नींबू के फायदे

रूसी को हटाने के लिए नींबू का उपयोग किया जाता हैं। नींबू के रस (nimbu pani ke fayde) में आंवला के फलों को पीस लें और इसे बालों में लगाएं इससे रूसी हट सकता है , और बालों का झड़ना भी कम हो सकता  है।

2.     नींबू के गुण चर्म रोग का इलाज

दाद, खाद, चमड़ी पर काले दाग आदि चर्मरोगों में नींबू को काटकर लगाने से लाभ होता है।

नींबू के रस का रोज सेवन करने से त्वचा के कीटाणु ठीक होते हैं।

3.     मधुमक्खी के काटने पर नींबू से फायदा

सज्जीक्षार, यवक्षार तथा काले नमक को नींबू के रस (nimbu ka ras) के साथ घोंटकर मधुमक्खी के डंक पर लगाए तो इससे मधुमक्खी के डंक से होने वाले  पीड़ा से आराम मिलता है।

4.     बिच्छू के डंक मारने पर नींबू के फायदा

नींबू के बीज में मींगी 9 ग्राम और सेंधा नमक 8 ग्राम को पीसकर इसका सेवन करने से बिच्छू के डंक से आराम मिलता है ।

5.     बुखार उतारने के लिए नींबू फायदेमंद

25 ml नींबू का रस तथा 25 ml चिरायते का काढ़ा बनाकर थोड़ा-थोड़ा करके पीने से मौसमी बुखार ठीक होता है। नींबू के रस में सही मात्रा में पलाण्डु का रस मिलाकर पीने से गंभीर बुखार उतर जाता है ।

6.     नींबू के इस्तेमाल से एसिडिटी का इलाज

5 मिली फल के रस (nimbu ka ras) में मधु , नारिकेलोदक तथा नमक मिलाकर सेवन करने से एसिडिटी ठीक होता है। अधिक प्यास लगने की परेशानी भी ठीक होती है।

अंतिम शब्द

मैं उम्मीद करता हूं की आज के इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको नींबू के अनेको फायदो के बारे में पता चला होगा, आप इस पोस्ट को अपने मित्रो के साथ भी शेयर करे जिससे उनको भी नींबू के फायदे के बारे में जानकारी हो सके।

Image by Золтан Сирчак from Pixabay

-Veer Mori

अस्वीकरण: इस ब्लॉग का उद्देश्य चिकित्सकीय सलाह देना नहीं है। इस साइट पर सभी सामग्री केवल सामान्य सूचना के उद्देश्यों के लिए है और पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार के विकल्प के रूप में इस पर भरोसा नहीं किया जाना चाहिए। हमारे लेखों में व्यक्त की गई राय केवल व्यक्तिगत अनुभवों से हमारे अपने विचार हैं। आपने यहां जो पढ़ा है उसके आधार पर कोई भी कार्रवाई करने से पहले कृपया अपने प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से परामर्श लें और याद रखें कि स्व-निदान खतरनाक हो सकता है!

Disclaimer: This blog is not intended to provide medical advice. All content on this site is for general informational purposes only and should not be taken as medical advice or instructions for any particular situation. Readers should consult their physician before undertaking any health related decisions.

For more information on sehatsamachar, please see About us section of this website.

Do you have any suggestions for us? We would love to hear from you! Contact Us.

Leave a Reply